जीवन परिचयपंडित सुरेंद्र तिवारी जी

मेरा जन्म २३ मई १९७० में ग्राम पठा , पोस्ट-पठा (ढकरवारा) तहसील -मऊरानीपुर , जिला झांसी (उ.प्र ) में हुआ था । मेरे पिताजी का नाम श्री भानुप्रताप तिवारी एवं माता जी का नाम श्रीमती कमला देवी है। हम ३ भाई और २ बहने है।


मेरी ८वी तक पढाई (शिक्षा) गांव के स्कूल में हुई । ९ वी स ११वी (हायर सेकेंडरी ) बोर्ड अलीपुर जिला छतरपुर (म.प्र ) से एवं बी.एस.सी महाराजा कॉलेज छत्तरपुर(म.प्र ) से शिक्षा प्राप्त की । मुझे बचपम से ही संगीत से एवं धार्मिक कार्यक्रम एवं धार्मिक पुस्तकों से बहुत लगाव था ।


७ साल की उम्र से ही अखण्ड रामायण पाठ करना एवं भजन गाने में बहुत रूचि थी ।


स्कूल में भी सांस्कृतिक कार्यक्रम म भाग लिया, प्रोत्साहन मिला। अपने गांव की कीर्तन मंडली में भी भजन गाने लगा । रामलीला में कई वर्षो तक लक्ष्मण का अभिनय किया । कई शहरो में गए । जबावी कीर्तन में भी गया ।रेडियो स्टेशन आकाशवाणी छतरपुर से अंताक्षरी एवं भजन कार्यक्रम में भी भाग लिया भगवत कथा , भजन संध्या , माता की चौकी , जागरण इत्यादि ।


कर्ता करे न कर सके गुरु करे सो होय ।
तीन लोक नौ खंड में गुरु से बड़ा न कोय ।